सारंगपुर

नापतोल अधिकारी मंडी के व्यापारियों के तोल कांटे में कर रहे थे जादूगरी,

सारंगपुर।(नवीन रूनवाल) शनिवार को कृषि उपज मंडी में राजगढ़ जिले के नापतोल अधिकारी एसएस मीणा द्वारा छुट्टी वाले दिन सारंगपुर मंडी के व्यापारियों के काटों का निरीक्षण किया गया। इसी दौरान मंडी के कुछ व्यापारियों ने मीडिया से नापतोल अधिकारी की शिकायत की जिसमें मीडिया ने मौके पर पहुंचकर नापतोल अधिकारी से काटा चेक करने की बात कही तो कांटे में 1 किलो का अंतर दिखाई दिया जिस पर तत्काल नापतोल अधिकारी ने सील खुलवा कर ठीक करवाया ।इस तरह मंडी में 23 व्यापारीयो के कांटे की जांच करने पहुंचे नापतोल अधिकारी ने व्यापारियों के कांटो में जादूगरी दिखाई इस जादूगरी की सीधी मार किसानों पर भारी पड़ेगी 1 किलो के हिसाब से दिन भर में 200 कोन्टल की चोरी व्यापारी आराम से किसानों की कर सकेगा यह सब करने के लिए नाप तोल अधिकारी व्यापारियों से मोटी रकम लेते हैं और कांटे सील करने के बाद उनसे 3 सौ रुपये फीस की जगह 13 सौ रुपये फीस भी ले रहे हैं। इस मामले को लेकर मीडिया से चर्चा करते हुए नापतोल अधिकारी ने अपना पल्ला झाड़ते हुए दोबारा से कांटो की सील मीडिया के सामने खुलवा दी इन अधिकारियों को किसी बड़े अधिकारी का खौफ भी नही है मीडिया अगर समय पर नहीं पहुंची तो नापतोल अधिकारी तो वहां से निकलने की तैयारी में ही थे।ऐसे ही कांटों में कम वजन कर किसानों को दलदल में धकेलने का यह पूरा जाल नापतोल अधिकारी ने तैयार कर लिया था।एक और प्रदेश एवं केंद्र सरकार किसानों का कर्जा माफ कर रहे हैं तो उनके अधिकारी किसानों को कर्जदार बना रहे हैं।अब देखना दिलचस्प होगा कि सरकार किसानों के लिए नए-नए दांव पेच खेल रही है तो वहीं उनके अधिकारी किसानों को दलदल में धकेल ने के लिए व्यापारियों के खाते में 1 किलो का वेट बडा दिया  हैं अब देखना दिलचस्प होगा कि इस नापतोल अधिकारी पर वरिष्ठ अधिकारी कब तक कार्रवाई करते हैं।