देवास

शहर कांग्रेस ने मनाई ज्योति बा फुले की जयंती

देवास(नवीन सोलंकी) ज्योतिबा फुले एक ऐसा नाम है जिन्होंने आजादी के पूर्व ऐसे कामों की शुरुआत की जो आगे चलकर आधुनिक भारत के निर्माण में मार्ग प्रशस्त करने के काम आए । ज्योतिबा फुले ने नारी अत्याचार और बाल विवाह जैसे उस समय के प्रचलित प्रथाओं का विरोध किया और समाज को जगाने में अपनी भूमिका निभाते हुए महिलाओं को बेटियो को शिक्षा के प्रति जागरूक किया उस समय फैली समाज में रूढ़िवादी परंपराओं को खत्म करने में भी उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए शिक्षा और नारी का महत्व समाज को समझाते हुए बताया कि महिला व पुरुष एक समान हे इन मे कोई बड़ा छोटा नही है ।उक्त विचार शहर कांग्रेस अध्यक्ष मनोज राजानी ने ज्योतिबा फुले की जयंती के अवसर पर तोड़ी स्थित माली धर्मशाला चौराहे पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण के पश्चात कांग्रेस जनों को संबोधित करते हुए कहे । रामी माली गुजराती समाज व शहर कांग्रेस के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में समाज के वरिष्ठ जनों एवं काग्रेस जनो  ने उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन करते हुवे उन के समाज सुधार के कर्यो को आगे बड़ाने का संकल्प लीया ।कार्यक्रम का संचालन प्रवक्ता सुधीर शर्मा ने किया व आभार ओम प्रकाश माली ने माना इस अवसर पर सुरेश बारोड़, कैलाश चावडा, नजर शेख, रमेश व्यास ,अजीत भल्ला,नरेंद्र यादव ,हिम्मत सिंह चावड़ा, अनिल गोस्वामी इम्तियाज शेख भल्लू , हफीज घोसी मुरलीधर गुप्ता, संजय गोठानी , हरीश देवलीया , प्रदीप बनाफ़र, वसीम हुसैन, राजेश जयसवाल, कदीर मिर्जा बेग, मुकेश शर्मा, निलेश वर्मा, पीसी हारोड़े ,संजय रेनीवाल, राजा पडीयार  ,प्रतीक शास्त्री, राहुल पवार, रियाज नागौरी , दुष्यंत पांचाल ,जाकिर भाई,       सहीत बड़ी संख्या में कांग्रेसी जन उपस्थित थे।